Home Cultural View History Promotion Tribal Christianity Literature News Download Tutorial Members Area Touch It

 

नेपाल नूँ कुँड़ुख़ भाषा साहित्य

सय बेचन उराँवस, काठमाडौ

 

केरका समेन एरोर होले कुँड़ुख़र ही भाषा कछनखरना नूँ इकला सिमटारका रहचा। सन् 1980 नूँ नेपाल नूँ कुँड़ुख़ भाषा टूड़ुर ही संख्या ओण्टा हूँ मा रहचर बओर अन्नु हूँ मनो। आ बीरी इसन कछनखरना नूँ इकला सिमटारका रहचा। एकआध कुँड़ूख़र इकला टूड़का बंच्चका रहचर। आ बीरी राज़ी नूँ पंचायती राजतंत्र ही राज़ी रहचा। राज़ी ती नेपाली भाषा नूँ इकला पढ़ना अउर टूड़ना छछन्द रहचा। सन् 1988 नूँ पंचायती राजतंत्र अन्त मंजा। अउर बहुदलिय प्रजातंत्र बरचा। ई बहुदलिय प्रजातंत्र हूँ जनसंख्या बग्गे मन्जका मैथली, भोजपुरी, तामाङ्गराई, लिम्बु भाषीर गे मोका चिच्चा। महज अल्पसंख्यक जातियर भाषिक क्षेत्र नूँ ओल्ता नूँ पड़ारार। सन् 2005 नूँ उलगुलान मंजा। अउर लोकतंत्र बरचा। तंगआ भाषा नूँ बंचतआना अउर टूडतआना नूँ निछन्द मंजा, अउर आलर तंगआ भाषा नूँ बंचआ हेल्लरार। नेपाल नूँ कुँड़ुख़ भाषा सिखिरआ गे एकअम जिनिस मा रहचा। कुँड़ुख़र कछनखरना नुम सिमटारका रहचर। ईर धरम, संस्कृति अउर परम्परा नूँ धनिक रअनर। औंगे ईर ही भाषा इदी ही ख़ेसेर लेके उज्जकी रई। अउर पर्दनुम काला लगी। सन् 2000 ती नेपाल नूँ कुँड़ुख़र ही भाषा गनिया एम्बा जगचका एथरई। ई बेड़ा नूँ कुँड़ुख़र ही शैक्षिक स्तर नूँ बढ़रना मन्ते बरआ लगी। आ बेड़ा नूँ कुँड़ुख़ भाषा नूँ टूड़आ गे एकअम कमहड़ सोता मल रहचा। कछनखरना भइर नूँ टूड़आ लगियर। टूड़आ गे बग्गे मसकिल मना लगिया। कुँड़ुख़ कत्था टूड़ना नलख सन् 2008 चिरदी चन्दो ती गोरखापत्र राष्ट्रीय दैनिक पत्रिका ती मुढ़ियारना मंजा। मुन्ता नूँ ई पत्रिका नूँ एंड़ गोटंग पन्ना नूँ चन्दो ही एंड़ खेप पत्रिका उरखा लगिया। अक्कुन ओंद पन्ना उरखी, आद हूँ चन्दो ही एंड़ खेप। अदी ख़ोख़ा भाषा, धरम, संस्कृति अउर परम्परा जोगबआ खतरी आदिवासी जनजाति उत्थान प्रतिष्ठान, प्रज्ञा प्रतिष्ठान, नेपाल राष्ट्र बैंक, नेपाल उराँव आदिवासी जनजाति प्रतिष्ठान अउर अन्नेम कुँड़ुख़ संस्था ती डण्डी, खीरी, लेख, निबन्ध प्रतियोगिता नन्नुम बरआ लगनर। गोरखापत्र ती समाचार, डण्डी, खीरी, लेख, निबन्ध, हिहिकोकोर, पच्चा-पच्चा कत्थटूड़ अउर जीवनी उरखी। ओरे नूँ अक्कुन ही बेड़ा नूँ पर्दना अउर बढरना मन्जकी रई। कुँड़ुख़ मा कच्छनखरऊ आःलर हूँ कुँड़ुख़ कछनखरनर। मल टूड़ऊ कुँड़ुख़र हूँ कुँड़ुख़ नूँ टूड़नर अउर बंचनर। महज ए बग्गे पर्दना-बढरना मन्ना चाही आ बग्गे मना पुल्की रई। इदी ही कोहा पंदहे कुँड़ुख़ ही संस्था अउर कुँड़ुख़र ही मजही नूँ मल पतआना अउर समझदारी मलका हिके।

क) वर्णनिर्धारण, टूड़ना पद्धति अउर व्याकरणः नेपाल नूँ सिनगी दई लिपि ही उपयोग नन्जका मल्ला। अउर इस्ता कुँड़ुख़र बलनर। औंगे देवनागरी लिपि ही बेवहार नंनर। नेपाल नूँ कुँड़ुख़ भाषा ही वर्ण इजतआना मल्ला मंजका। नेपाल नूँ भारत राज़ी ही कुँड़ुख़ भाषा नूँ नन्जका पि.सी.बेक्स, डॉ. हरि उराँव, अउर कुँड़ुख़वर्ल्ड साइट ही कमऊ नेम्हस एक्कास ही बेवहार नंज्जका वर्ण बेवहार नंजका रई। नेपाल नूँ कुँड़ुख़ भाषा ही व्याकरण मल्ला। इसता कुँड़ुख़ पी. सी. बेकस ही कुँड़ुख़ कत्थ बिल्ली(सन् 1978), महावीर उराँवस ही आओ कुँड़ुख़ सीखें(सन् 2008), हान्स ही कुँड़ुख़ व्याकरण(सन् 1911) अउर प्रो. हरी उराँवस ही हिन्दी भाषा अउर कुँड़ुख़ भाषा(सन् 2010) ही मूली नूँ कुँड़ुख़ कत्थन टूड़नर। कछनखरनान मूली कमते उच्चारण नन्जका भइर नूँ इसता आलर बक्क, बकपून अरा कत्थाइन टूड़नर अउर कत्था कछनखरनर। इदिन एकरूपता ओन्दोरना चाड़ रई।

ख) शब्द कोष निर्माणः नेपाल नूँ सन् 2010 ती मूँद कुँड़ुख़र खतरी शब्दकोष कमचका मा रहचा। सन् 2011 नूँ आदिवासी जनजाति उत्थान प्रतिष्ठान ही संघ्रा नूँ कुमारी सरणा उराँव मुन्ता खेप अनुसंधान नंजा की 2,500 शब्द ही शब्दकोष ओथरकी रई। अन्नेम सन् 2011 नुम प्रज्ञा प्रतिष्ठान, आदिवासी जनजाति उत्थान राष्ट्रीय प्रतिष्ठान, त्रिभुवन विश्वविद्यालय अउर एस.आई.एल. ही मुल्ली नूँ बेचन उराँव, कुमारी सरणा उराँऴ, अमिरलाल उराँव अउर देवप्रकाश उराँवस ही अनुसंधान अउर शब्द संयोजन नूँ 10,500 शब्द ही शब्दकोष कमरकी रई अउर उरूखना बेड़ा नूँ रई। अन्नेम तनवुना 5 ता सय परमेश्वर उराँवस हूँ शब्द संयोजन नन्जस की शब्दकोष ओथरका रअदस। इदी ही अदका नेपाल नूँ शब्दकोष निर्माण मन्जका मल्ला। इबड़ा शब्दकोष अक्कुन हूँ समाज नूँ अंड़सा पुल्की रई।

ग) भाषा अध्यायन ही परम्पराः कुँड़ुख़ भाषा ही अध्यायन उराँव/कुँड़ुख़ समुदाय नूँ कछनखरना भइर नूँ टूड़ना-बंचना नलख मनी। समुदाय नूँ कछनखरना शब्द ही उच्चारण गुट्ठीन मूल रूपे नूँ अध्यायन ननरकी ई भाषान बेवहार नन्नर। नेपाली भाषा अउर हिन्दी भाषा ही व्याकरण ही तुलनात्मक अध्यायन नन्ते ई भाषा ही अध्यायन नन्नर। वास्तविक उराँऴ/कुँड़ुख़ शब्द ही छनोट नन्ते बेवहार अरा टूड़ना आलो ही बेवहार मनी। कुँड़ुख़ भाषा नूँ मन्जका ठेठ बक्क पता लगाबातारई। जिन्गी नूँ बेवहार मन्ना बक्क ती बकपून कमतारई। अउर बकपून अध्यायन नन्ते कुँड़ुख़ नूँ डण्डी, लेख, रचना, खीरी, हीहीकोकोर गुट्ठिन कमतारई।

घ) साहित्यक सामग्री अवस्थाः केरका बेड़ा सन् 2000 अगु नेपाल नूँ कुँड़ुख़ भाषा साहित्य कछनखरना नूँ सिमटारका रहचा। भाषा साहित्य टूड़ना ही चलन मा रहचा। कुँड़ुख़र धरम, संस्कृति, परम्परा अउर चाल-चलन ही माध्यम लकेम भाषा ही संरक्षण नन्ते बरआ लगियर। आ बेड़ा नूँ कुँड़ुख़र कुँड़ुख़ कत्था कछनखरआ गे हूँ लजरआ लगियर। कुँड़ुख़ लज्जे गही लेके कुँड़ुख़ कत्था मा कछनखरआ लगियर। बम्बनर अर खट्टर कुँड़ुख़ कत्था कछनखरउरीन लुलिया बआ लगियर। राज़ी तरती के ख़स(नेपाली) भाषान अम्बार की एकअम भाषा गे बंचना अउर टूड़ना नूँ छूट अउर निछन्द मा रहचा। आलर ख़ड़आर की अउर नुड़रआर की तंगआ भाषा नूँ कत्था बंचआ अउर टूड़ा लगियर।

       सन् 2005 नूँ उलगुलान मंजा। अउर नेपाल नूँ लोकतंत्र बरचा। लोकतंत्र बरचाक ख़ोख़ा गोरखापत्र राष्ट्रीय दैनिक पत्रिका तरती सन् 2007 सिप्तेम्बर चन्दो ही मुन्ता खेप 30 गोटंग भाषा नूँ पत्रिका उरूखना मुढ़ियारा। अइया नूँ कुँड़ुख़ भाषा पन्ना संयोजक बेचन उराँवस ही कढ़ाबअना नूँ मुन्ता खेप कुँड़ुख़ भाषा ही पन्ना उरखिया। आ बेड़ा ती अक्कुन गूटी उरूखनुम बरआ लगी। ईद कुँड़ुख़ जातियर अउर समुदाय भाषा ही क्षेत्र नूँ कोहा उपलब्धि हिके। इदी ही माध्यम ती लोक साहित्य, ख़द साहित्य, लेख, डण्डी, खीरी, हीहीकोकोर, फकड़ा, जीवनी, धरम, संस्कृति, घटना, समाचार, इतिहास, उत्पत्ति इबड़ा कत्था गुट्ठी ई कुँड़ुख़ पत्रिका नूँ उरूखते बरआ लगी। नेपाल उराँव आदिवासी जनजाति प्रतिष्ठान तरती हुरमी बछर भाषा अउर साहित्य जोगाबअना खतरी खीरी, डण्डी, अउर निबन्ध प्रतियोगिता ही ख़ेसेर ती जोगाबअना अउर चिपतआना मन्जकी रई। बेचन उराँवस ही नेपाल भाषा नूँ उराँव जातिमा सामाजिक-साँस्कृतिक परिवर्तन र रोजगारी का अवसरहरू(सन 2009), उराँव जातिको आर्थिक अवस्था(सन् 2010), उराँव जातिको चिनारी(सन् 2012), उराँव जातिको चाडवाडमा आदिवासित्व एक अध्यायन(सन 2012), अरा कुँड़ुख़ कत्था नूँ एंग्है पद्दा(सन् 2011) गुट्ठी गही अनुसंधान अरा चिपिरना ती नेपाल ता कुँड़ुख़र ही भाषा, धरम, संस्कार अउर संस्कृतिन जोगोबअना नूँ संगरा मन्जकी रई। अन्नेम कुमारी सरणा उराँव ही कुँड़ुख़ शब्दकोष(सन् 2011), मानी खीरी(सन् 2012) नूँ उरूखकी रई। कुँड़ुख़ शब्द संकलन अउर चिपिरना मन्जकी रई। ई पुथि ती कुँड़ुख़ समाज नूँ रहचका पच्चा अउर पुना खीरीन जोगाबअना नूँ संगरा मन्जकी रई।

ङ) संचार माध्यम नूँ कुँड़ुख़ भाषा ही अवस्थाः

1)     छापा माध्यमः गोरखापत्र राष्ट्रीय दैनिक पत्रिका ती सन् 2007 ती कुँड़ुख़ पत्रिका हुरमी चन्दो उरूखते बरआ लगी। प्रज्ञा प्रतिष्ठान ती उरूखना सोय चन्दो ही पत्रिका सयपत्री पत्रिका हूँ सन् 2010 ती कुँड़ुख़ भाषा परदना नलख नूँ इतिहास, उत्पत्ति और साहित्य सम्बन्ध नूँ लेख अउर निबन्ध उरूखते बरआ लगी। नेपाल राष्ट्र बैंक ती उरूखना पत्रिका मिरमिरे नूँ सन् 2011 ती कुँड़ुख़ भाषा नूँ लेख चिपिरना मन्ते बरचकी रई। अउर अन्तराष्ट्रीय भाषा दिवस ही मोका नूँ कुँड़ुख़ भाषा ही साहित्यकार ही डण्डी चिपिरना मन्ते बरचकी रई। ईद ओण्टा छापा ख़ेसेर नूँ कुँड़ुख भाषा ही उपलब्धी हिके। अन्नु हूँ ई भाषा ही पर्दना अउर बढरना एवंदा मन्ना चाही, आ बग्गे मना पुल्की रई। इदी ही कोहा पंदहे समुदाय नूँ ई भाषा बंचना अउर टूड़ना ती एन्देर मनो। जबे का नेपाली भाषा नूँ लोकसेवा ही परिक्छा मनी। राज़ी नूँ राज्य सेवा नेपाली नूँ मनी। बअना कत्था कुछ बंच्चका कुँड़ुख़र ही रई। आर गे तंगआ भाषा अख़चका, बंच्चका अउर टूड़चका ती चाँड़ेर लुर सिखिरतारई अउर दक्षता ख़क्खरई बअना कत्था थाह मल्ला। औंगे आर ई कुँड़ुख़ भाषा ही छापा ख़ेसेर नूँ धियान मा चिच्चका रअनर। इकला पद्दा पहटा ता जोंख़र पेल्लर ई पत्र-पत्रिका नूँ धियान चिअनर, बंचनर अरा टूड़नर।थ सन् 2010 आदिवासी जनजाति प्रतिष्ठान ती कुँड़ुख़ भाषा नूँ किताब उरूखते बरआ लगी। इदी ही अदका अउर छापा ख़ेसेर नूँ कुँड़ुख़ भाषा उरूखका मल्ला।

2)      एफ.एम. रेडियोः केरका 3 बछर ती विराटनगर उपमहा नगरपालिका ही सप्तकोसी एफ.एम. रेडियो ती हप्ता ही ओंद उल्ला कुँड़ुख़ भाषा नूँ डण्डी, समाचार अउर जानकारी मूलक कत्था बिंढ़िरतारनुम बरआ लगी। अन्नेम इनरूवा नगरपालिका वार्ड नं. 7 ता पपुलर एफ.एम. रेडियो(99.5 मेगाहर्टज) ती हप्ता ही ओंद उल्ला कुँड़ुख़ भाषा नूँ समाचार, घटनाचक्र, इतिहास, उत्पत्ति, अन्तरवार्ता सम्बन्ध नूँ कार्जक्रम बिंढ़ना मन्ते बरआ लगी। अक्कुन ई बिढ़िना अकमारना ही अवस्था नूँ रई। ई कार्जक्रम कुँड़ुख़ संस्था ही आर्थिक असहयोग ही पंदहे अकमारना अवस्था नूँ रई।

3)      डण्डी एल्बमः नेपाल नूँ छिटाहा गा.वी.स. ता सम्पत उराँवस सन 2005 नूँ ओथरका डण्डी एल्बम दुम प्रथम एल्बम हिके। इदी ती अगु पंचायत कालिन बेड़ा नूँ पूर्वकुसाहा रऊ ठको उराँव रेडियो नेपाल ती डण्डी ओथरकी रई। अदी ही डण्डी रेडियो नेपाल नूँ बेड़ा-बेड़ा नूँ बरनुम रई। इदी ही अदका अक्कुन गूटी एकअम कुँड़ुख़र डण्डी एल्बम ओथरका मल्लर। इसन मेनुर रअनर, रोटओ पाड़ूर मल्लर।

4)      श्रव्य-दृश्य सामग्रीः नेपाल नूँ नेपाल टेलिविजन ही संघ्रा ती पबनी तिहार, नलना बेचना ही श्रव्य-दृश्य सामग्री उत्पादित मन्जकी रई। बेड़ा-बेड़ा नूँ प्रसारण मनी। इकला नेपाल टेलिविजन खतरी। कुँड़ुख़र ही संघ/संस्था नुम सिमटारका रई। इदी ही आधिकारिता मना पुल्की रई।

5)      पाठ्य पुस्तको की अवस्थाः नेपाल नूँ रउ होरमा जातियर गे तंगआ भाषा नूँ बंचतआ अउर टूड़तआ गे कक्षा 1 गूटी मान्यता ख़क्खरका रई। कुँड़ुख़र ही भाषा आर्थिक बछर 2055-56, 2056-57, 2057-58 अउर 2058-59 ती मातृभाषा नूँ सिखरआ, टूड़आ अउर बंचआ गे राज़ी ती छनोट मन्जकी रई। कश्रा 1 अउर 2 ही पाठ्य पुस्तक कमना मन्जा दरा केरका 3 बछर ती सारदा प्रा.वि.सिमरिया नूँ बंचतआना टूड़तआना नलख मन्ते बरआ लगी। केरका आर्थिक बछर 2067/68 ती कर्मा प्रा.वि.भोकाहा-8, कर्मा प्रा.वि. पश्चिम कुसाहा, कर्मा प्रा.वि.पूर्व कुसाहा, नरसिंह सत्तेरझोडा संग्गे इ बंचकुड़िया नूँ बंचतआना-टूड़तआना नलख मन्नुम बरना रहचा। इसता कुँड़ुख़ राजनैतिक आलर ही आपुस ता मतभेद पंदहे ख़दर कुँड़ुख़ भाषा बंचना ती वंचित मन्जका रअनर। राज़ी नूँ बहुशिक्षा प्रणाली लागू रई। कुँड़ुख़र ख़ोख़ा बंचना टूड़ना ओरे नन्जका धिमाल अउर राजवंसीर ईर ती अगु मन्जर। कुँड़ुखर आपसी पछड़ा नूँ रअनर।

    

 

रियारका टूड़ा गही मूःली पाँति

कुँड़ुख़ कत्थटूड़ पर्दआना गही चिरखी नाम ओर्मत गे रई, ईगे ओर्मर इन्नू एकअम रूपे ती संघ्रा नना